अमेरिकाः कैपिटल हिल में हिंसा की पूर्व राष्ट्रपतियों ने की निंदा

अमेरिकाः कैपिटल हिल में हिंसा की पूर्व राष्ट्रपतियों ने की निंदा

 (भाषा) अमेरिका के चार पूर्व राष्ट्रपतियों – बराक ओबामा, जॉर्ज डब्ल्यू बुश, बिल क्लिंटन और जिमी कार्टर ने यूस कैपिटल (अमेरिकी संसद भवन) में हिंसा भड़काने के लिए निवर्तमान राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पर तीखा प्रहार करते हुए ट्रंप समर्थकों की कार्रवाई की निंदा की है। इसके साथ ही पूर्व राष्ट्रपतियों ने सत्ता के शांतिपूर्ण तरीके से हस्तांतरण की अपील की। यूएस कैपिटल बिल्डिंग में बुधवार को हजारों ट्रंप समर्थक दंगाइयों के घुसने और संसद के संयुक्त सत्र को बाधित करने के बाद ओबामा समेत पूर्व राष्ट्रपतियों का यह बयान आया है। घटना के वक्त संसद का संयुक्त सत्र चल रहा था जिसमें नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन की जीत की पुष्टि होनी थी। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि यह देश के लिए ‘‘बेहद अपमान और शर्मिंदगी’’ का पल है। ओबामा ने एक बयान में कहा, ‘‘इतिहास कैपिटल में हुई आज की हिंसा की घटना को याद रखेगा जिसे वैध चुनावी नतीजे के बारे में लगातार निराधार झूठ बोलने वाले एक निवर्तमान राष्ट्रपति ने भड़काया। यह अमेरिका के लिए बेहद अपमान और शर्म की बात है।’’ पूर्व राष्ट्रपति ओबामा ने कहा, ‘‘लेकिन, अगर हम ऐसा कहेंगे कि यह एकदम अचानक हुई घटना है तो हम खुद से मजाक कर रहे होंगे।’’ ओबामा ने रिपब्लिकन पार्टी और इसके मीडिया समर्थकों पर भी हमला करते हुए कहा कि वे राष्ट्रपति चुनावों में जो बाइडन की जीत को लेकर अपने समर्थकों से सच छुपाते रहे हैं। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने कहा कि वह और उनकी पत्नी ने पूरा घटनाक्रम देखा। उन्होंने कहा, ‘‘यह सब दिल तोड़ने वाला है। यह कैसे किसी ‘बनाना रिपब्लिक’ (कमजोर लोकतंत्र) में चुनाव परिणाम को विवादित बना दिया जाता है, हमारे लोकतांत्रिक गणराज्य में नहीं। चुनाव के बाद से ही कुछ नेताओं के अमार्यदित व्यवहार, हमारी संस्थाओं, हमारी परंपराओं और कानून लागू करने वाली हमारी एजेंसियों के प्रति अनादर के भाव से मैं हतप्रभ हूं।’’ पूर्व राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने इसे अप्रत्याशित घटना बताते हुए कहा, ‘‘यह हमारे संविधान, हमारे देश, हमारी संसद पर हमला है। पिछले कुछ समय से चलाए गये झूठे अभियान से आज यह दिन देखने को मिला है। हमें निश्चित रूप से आज की हिंसा को भुलाकर आगे बढ़ना होगा और अपने संविधान का सम्मान करना चाहिए।’’ पूर्व राष्ट्रपति जिमी कार्टर ने कहा कि यूएस कैपिटल में आज की घटना ‘‘झकझोरने’’ वाली है। उन्होंने कहा, ‘‘यह राष्ट्रीय त्रासदी है और यह असल अमेरिका को नहीं दिखाता है।’’ पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा, ‘‘देश के ‘आतंकियों’ ने अमेरिका के लोकतंत्र पर हमला किया और सत्ता के शांतिपूर्ण हस्तांतरण की प्रक्रिया को बाधित किया।’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमें फिर से कानून का राज स्थापित करना होगा और उन्हें जवाबदेह बनाना होगा। लोकतंत्र संवेदनशील है। हमारे नेताओं को इसकी रक्षा करने की जिम्मेदारी लेनी होगी।’’ राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार रह चुके रिपब्लिकन नेता जेब बुश ने आरोप लगाया कि ट्रंप ने इस हिंसा के लिए लोगों को उकसाया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *