अपराध नियंत्रण में किसी प्रकार की कमी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगाः मुख्यमंत्री

अपराध नियंत्रण में किसी प्रकार की कमी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगाः मुख्यमंत्री

पटनाः मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को सरदार पटेल भवन स्थित पुलिस मुख्यालय में विधि व्यवस्था से संबंधित समीक्षात्मक बैठक की। समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सीआईडी की अपराध नियंत्रण में महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने निर्देश दिया कि अपराध अनुसंधान कार्य तेजी से हो और उसकी मॉनिटरिंग पुलिस मुख्यालय स्तर से भी की जाए। सोशल मीडिया के माध्यम से चलायी जा रही नकारात्मक खबरों के खिलाफ पुलिस विभाग अपने स्तर से सोशल मीडिया के माध्यम से अपराध नियंत्रण के लिए किए जा रहे कार्यों के बारे में लोगों को सही जानकारी दें। सीआईडी विभाग में एक कम्युनिकेशन विंग बनाएं जो सारी बातों की जानकारी लोगों दे ताकि लोग भ्रमित न हो सकें। इससे वातावरण में सकारात्मक बदलाव आएगा। डीएम-एसपी की विधि व्यवस्था से संबंधित मिटिंग रेग्युलर हो। अपराधियों का चार्जशीट ससमय हो और उसका अनुसंधान कार्य ससमय कराएं और दोषियों को सजा दिलवाएं, निर्दोष को फंसाया नहीं जाए। पुलिस बलों की लगातार ट्रेनिंग कराते रहें। श्वान दस्ता का सुदृढ़ीकरण करें, उनकी लॉ एंड ऑर्डर में प्रभावी भूमिका है। प्रभावी पेट्रोलिंग निरंतर जारी रखें ताकि अपराध नियंत्रित रह सके और एक्सिडेंट में भी कमी हो। उन्होंने कहा कि लोगों को रोड सेफ्टी के बारे में जागरुक करें। महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दें। पुलिस विभाग से संबद्ध सभी कार्यालयों में महिलाओं की पर्याप्त संख्या मौजूद रखें औऱ उनके लिए वहां अलग से सुविधाओं का ध्यान रखें। कोई भी महिलाएं किसी विभाग में काम के लिए जाएंगी तो उन्हें सहुलियत होगी और उनका आत्मविश्वास बढ़ेगा।
बैठक के दौरान अपर पुलिस महानिदेशक विनय कुमार ने अपराध अनुसंधान विभाग से संबंधित प्रस्तुतीकरण दिया। प्रस्तुतीकरण में अपराध अनुसंधान विभाग के ऑर्गेनाइजेशन, स्ट्रक्चर, उच्चतर प्रशिक्षण संस्थान (ए0टी0एस0), पुलिस पुस्तकालय, पुलिस संग्रहालय, श्वान दस्ता, विधि विज्ञान प्रयोगशाला से संबंधित जानकारी दी गई। अपर पुलिस महानिदेशक विनय कुमार ने अनुसूचित जाति/ अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम-1989 के तहत लंबित कांडों की समीक्षा के संबंध में भी एक प्रस्तुतीकरण दिया। पुलिस महानिदेशक (बी0एम0पी0) श्री आर0एस0भट्टी ने बिहार सैन्य पुलिस से संबंधित एक प्रस्तुतीकरण दिया। प्रस्तुतीकरण में बिहार सैन्य पुलिस की भूमिका, बल प्रबंधन, महिला बल सशक्तिकरण, खेलकूद प्रभाग तथा आधारभूत संरचना से संबंधित विस्तृत जानकारी दी गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *