इलेक्ट्रिक बस के प्रथम यात्री बने मुख्यमंत्री, विधानसभा तक का किया सफर

इलेक्ट्रिक बस के प्रथम यात्री बने मुख्यमंत्री, विधानसभा तक का किया सफर

पटनाः बिहार में मंगलवार से इलेक्ट्रीक बसों का परिचालन शुरु हो गया है। इससे पर्यावरण संरक्षण के लिहाज से कारगर साबित तो होगा ही इससे आवागमन में भी सुविधाएं उपलब्ध होंगी। मुख्यमंत्री ने परिवहन विभाग की विभिन्न योजनाओं का उद्घाट्न एवं शिलान्यास कार्यक्रम के उपरांत पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि यह खुशी की बात है कि बिहार में आज इलेक्ट्रिक बसों के परिचालन की शुरुआत हुई है। पर्यावरण के संरक्षण के लिए यह बहुत अच्छी बात है। 25 बसें आनी हैं, जिसमें 12 बसें आ चुकी हैं बाकि बची हुई बसें इसी माह में आ जाएगी। वर्ष 2019 में इलेक्ट्रिक कार के आने के समय से ही हम इसका उपयोग करते आ रहे हैं। कई मंत्री और अधिकारी भी इलेक्ट्रिक कार का उपयोग कर रहे हैं। शुरुआत में जब हम इलेक्ट्रिक कार से निकलते थे तो उत्सुकतापूर्वक लोग देखते थे। इलेक्ट्रिक बसों में हर प्रकार की सुविधाओं का ख्याल रखा गया है। सबकुछ ऑटोमेटिक है। इलेक्ट्रिक बसों का संचालन जब ठीक ढंग से होने लगेंगी तो इसकी संख्या और बढ़ाई जाएगी। पर्यावरण के संरक्षण के लिए हमलोग जल-जीवन-हरियाली अभियान चला रहे हैं। ऐसे व्हीकल पर्यावरण के अनुकूल तो होंगे ही लोगों को भी आवागमन में सहुलियत होगी। आबादी बढ़ी है, लोगों का आवागमन बढ़ा है, इसको ध्यान में रखते हुए कई सड़कों का निर्माण किया गया है। सड़क दुर्घटनाओं से बचाव के लिए भी कई कार्य और इंतजाम किए जा रहे हैं। चालकों की ट्रेनिंग, वाहन जांच, वाहन निरीक्षण आदि के लिए भी संस्थानों का निर्माण कराया जा रहा है। बेहतर ट्रेनिंग नहीं होने के कारण ज्यादा दुर्घटनाएं होती हैं। ट्रेंड ड्राइवर ही गाड़ी चलाएंगे। दुर्घटनाओं को नियंत्रित करने के लिए परिवहन विभाग लगातार काम कर रहा है और राष्ट्रीय स्तर पर भी इसके लिए निर्णय किया गया है। हमलोगों ने इसे लेकर कमिटी बनायी है और उसके आधार पर कार्य किए जा रहे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि इलेक्ट्रिक व्हीकलस के आने से लोगों का खर्च घटेगा, सहूलियत होगी। इससे दुर्घटनाएं भी कम होंगी और पर्यावरण भी सुरक्षित रहेगा। इथेनॉल के निर्माण के लिए भी हमलोग कार्य कर रहे हैं। गन्ने से चीनी के निर्माण के साथ-साथ राज्य में इथेनॉल का भी उत्पादन होगा। पेट्रोल में 20 प्रतिशत उसे मिलाया जाएगा। सबसे बड़ी बात ये है कि लोगों के लिए इसकी शुरुआत हो गई है और लोग इससे प्रेरित होंगे। हमने बस के भीतर सारी सुविधाओं की जानकारी ली है। गाड़ी को मेंटेन करने वाले भी ट्रेंड हैं। इस तरह से ट्रेंड रहेंगे तो दुर्घटना कम होगी। परिवहन विभाग इस काम को और तेजी से बढ़ाएंगे, परिवहन विभाग को इसके लिए बधाई देता हूं कि इलेक्ट्रिक बसों की परिचालन की इन्होंने शुरुआत करायी है। इलेक्ट्रिक बस की आज शुरुआत हुई है और हमलोग इसी बस पर सफर करते हुए विधानसभा पहुंचे हैं और यह काफी आरामदायक भी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *