…तो क्या एक बार फिर से थम जाएगा रेल का पहिया?

…तो क्या एक बार फिर से थम जाएगा रेल का पहिया?


नई दिल्लीः देश में एक बार फिर कोरोना संक्रमण अपने पैर पसारने लगा है। कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकारों ने पाबंदियां बढ़ना शुरू कर दी है। कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है। कुछ शहरों में पूर्ण लॉकडाउन तो कुछ में वीकेंड लॉकडाउन की घोषणा की जा चुकी है। बढ़ते मामलों के बीच भारतीय रेलवे ने मुंबई सेट्रल से अहमदाबाद के बीच चलने वाली तेजस एक्सप्रेस का संचालन एक महीने के लिए बंद कर दिया है। ऐसे में यह सवाल उठने लगे हैं कि क्या देश में ट्रेनों के बंद होने का सिलसिल फिर से शुरू हो सकता है?

रेलवे बोर्ड ने शुक्रवार को एक बयान जारी कर साफ किया कि इंडियन रेलवे का ट्रेनों को रोकने या उसपर पाबंदी लगाने की अभी कोई योजना नहीं है। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि जो लोग यात्रा करना चाहते हैं, उनके लिए ट्रेनों की कोई कमी नहीं है। मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि मांग के अनुसार ट्रेनें चलाईं जाएंगी। हम जरूरत के अनुसार ट्रेनों की संख्या बढ़ाएंगे। शर्मा ने आगे कहा कि महाराष्ट्र में जिन मजदूरों के पलायन की बात कही जा रही है वो पलायन नहीं है बल्कि ये रेलवे के सामान्य यात्री हैं। नाईट कर्फ्यू से बचने के लिए ये जल्दी स्टेशन पहुंच जाते हैं, जिसकी वजह से भीड़ दिखाई दे रही है। महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में इसका व्यापक प्रसार देखते हुए रेलवे स्टेशनों पर तत्काल प्रभाव से प्लेटफॉर्म टिकटों की बिक्री बंद कर दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *