पटना एम्स में कोरोना विस्फोट, 384 डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ संक्रमित

पटना एम्स में कोरोना विस्फोट, 384 डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ संक्रमित

कोरोना के कहर से पूरी दुनिया त्रस्त है। सभी लोगों से एहतियात बरतने की अपील की जा रही है। लेकिन जो लोगों की सेवा करते हैं डॉक्टर भला वो कैसे अपने घरों में रहें और एहतियात बरतें। उन्हें तो हर हाल में मरीजों का इलाज करना है। अब हम बात करते हैं बिहार की, तो यहां तेजी से कोरोना महामारी पैर फैलाती जा रही है और राज्य में संक्रमण के मामले में नया रिकॉर्ड बन गया क्योंकि मंगलवार को पहली बार 10 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए। इस बीच पटना एम्स में कोरोना का विस्फोट हो गया। एम्स में 384 डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ कोरोना से संक्रमित हो चुके हैं।
पटना एम्स के मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने इस बात की पुष्टि भी की। राज्य में नए मरीज तेजी से बढ़ते जा रहे हैं और ठीक होने वाले मरीजों की दर कम होती जा रही है। राज्य में रिकवरी रेट लगातार घट रही है। बिहार में अब तक कोरोना के 3,42,059 मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 1,841 मरीजों की जान जा चुकी है। फिलहाल मंगलवार तक 56,354 कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा है, जबकि, इससे एक दिन पहले सोमवार को 49,527 एक्टिव केसेस थे। यानी, एक ही दिन में एक्टिव केसेस में करीब 7 हजार का इजाफा हो गया।
इस बीच राजधानी पटना के अस्पतालों में मांग के अनुरूप 25 प्रतिशत ही ऑक्सीजन की सप्लाई हो पा रही है। ऑक्सीजन नहीं मिलने की वजह से कोरोना संक्रमित मरीजों के जीवन पर खतरा मंडरा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *