यूपी की दलित बेटी के साथ क्रूरता मानवता पर कलंक, सरकार उन्हें न्याय दिलाए

यूपी की दलित बेटी के साथ क्रूरता मानवता पर कलंक, सरकार उन्हें न्याय दिलाए

बसन्त सिन्हा

पटना/बेगूसराय: नगर निगम पूर्व मेयर बेगूसराय,जिलाध्यक्ष अंतराष्ट्रीय वैश्य महासम्मेलन आलोक कुमार अग्रवाल और डॉ राजेश कुमार रोशन ने संयुक्त रूप से कहा कि देश कहां जा रहा है दलित समाज खासकर उनकी बहू बेटियों के साथ बलात्कार दरिंदगी क्रूरता की घटनाएं इधर बहुत बढ़ रही है इसके लिए कौन जिम्मेवार है यूपी हाथरस की एक दलित बेटी मनीषा बाल्मीकि के साथ बहसीपना दरिंदगी और क्रूरता की गई जिससे उसकी मृत्यु हो गई मैं इसकी घोर निंदा करता हूं निर्भया कांड से भी यह भयावह कांड है वहां का प्रशासन पीड़ित परिवार को संताबना देने के बदले उनको धमकाते हैं कि मीडिया तो चली जाएगी जनता तो चली जाएगी बाद में केवल हम और तुम ही रहोगे कितनी शर्मनाक बात है पुलिस प्रशासन जी कितना गैर जिम्मेदारआना बयान है कि पुलिस ADJ कहता है कि मेडिकल रिपोर्ट में रेप की पुष्टि नहीं हुई है जब यह रिपोर्ट मनीषा वाल्मीकि के मृत्यु के पूर्व आई थी तो मृत्यु के बाद यह बयान देना गैर जिम्मेदार और शक के घेरे में है मनीषा बाल्मीकि के मरने के बाद रात्रि ढाई बजे परिवार के इच्छा के विरुद्ध जला दिया गया कितनी शर्मनाक घटना हिंदू रीति-रिवाज का भी कार्य नहीं करने दिया गया प्रशासन क्या छुपाना चाहता है सरकार और प्रशासन दोनों शक घेरे में है इसमें cbi की जांच होनी चाहिए और दोषियों को फांसी देने की कारवाई होनी चाहिए और मनीषा बाल्मीकि के परिवार को दो करोड़ रुपए का मुआवजा और परिवार के एक व्यक्तियों को सरकारी नौकरी मिली चाहिए!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *