भाजपा पार्टी है कोई वोटर नहीं, लोगों ने वोट नहीं दिया तो खुद की गलती हैः प्रो.नवल किशोर यादव

भाजपा पार्टी है कोई वोटर नहीं, लोगों ने वोट नहीं दिया तो खुद की गलती हैः प्रो.नवल किशोर यादव

जदयू अपने गिरेबां में झांके और मंथन करे कि आखिर जनता ने वोट क्यों नहीं दिया

जदयू के आरोप पर भाजपा का जवाब, कहा अपने गिरेबां में झांकें
• दोस्त और दुश्मन में फर्क नहीं कर पा रही है जदयू तो ये उसकी गलती है
• जदयू नेता जय कुमार सिंह के बयान पर नवल किशोर के दो टूक
• अपने हार का ठीकरा दूसरो पर मढ़ने से बेहतर मंथन करेः नवल

पटनाः बिहार की राजनीति में भाजपा नेता नवल किशोर यादव हमेशा से नपे-तूले बयान देते हैं। उनकी बेबाक टिप्पणी पर सबकी निगाहें रहती हैं। इस वक्त जदयू का प्रदेश स्तरीय बैठक में पार्टी के कम सीटों के आने पर मंथन चल रहा है। वैसे में अपनी कम सीटों के आने पर भाजपा पर जदयू नेता जय कुमार सिंह के ठीकरा फोड़ने पर भाजपा के विधान पार्षद प्रो. नवल किशोर यादव ने जदयू नेता को साफ शब्दों में जवाब देते हुए कहा है कि आप फर्क नहीं कर सकते हैं तो ये आपकी गलती है। भाजपा पार्टी है, कोई वोटर नहीं अगर आपको लोगों ने वोट नहीं दिया तो ये आपके खुद की गलती है, इसके लिए दूसरों को दोष देना उचित नहीं है। बल्कि अपने गिरेबां में झांककर देखना चाहिए।
आगे प्रो. नवल किशोर यादव ने कहा कि बिहार चुनाव में पहले ही भाजपा स्प्ष्ट कर चुकी थी भाजपा का गठबंधन जदयू के साथ है और आज की ताऱीख में सरकार भी उसी के साथ चल रही है। जदयू नेता जय कुमार सिंह ने कहा था कि ‘भारतीय जनता पार्टी के लोगों ने हमें वोट नहीं दिया’ इस पर अब भारतीय जनता पार्टी के विधान पार्षद प्रो. नवल किशोर यादव ने कहा है कि हारने और मरने वाला व्यक्ति हर वक्त अपनी हार और मरण का ठीकरा दूसरों पर फोड़ता है। आगे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दोस्तों और दुश्मनों के फर्क नहीं कर पाने वाले मामले पर श्री यादव ने कहा कि जो लोग अपने मतदाताओं को ठीक नहीं रखते हैं वहीं दूसरों पर आरोप लगाते हैं। आप अपने क्षेत्र में काम कर रहे हैं और दुश्मन-दोस्तों में फर्क नहीं कर पाए तो यह आपकी गलती है। मतदाताओं को खुश नहीं रख पाए आप इसलिए हार का सामना करना पड़ा। श्री यादव के बयान पर राजनीतिक पंडितों का मानना है कि बयान भले ही जय कुमार सिंह के जवाब में दिए गए हों मगर उनका निशाना मुख्यमंत्री नीतीश कुमार है। अगर ऐसी बात है तो जदयू को भी अपने खेमे के नेताओं को बेवजह बयान देने से बचने की जरुरत है। आखिर जदयू ने लोजपा के मसले को उठाया तभी इस तरह का बयान प्रो. यादव ने देकर अपने पार्टी के स्टैंड को क्लियर किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *