2021-22 में कोरोना संकट के बाद शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, के साथ आत्मनिर्भर पर सरकार का फोकस

2021-22 में कोरोना संकट के बाद शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार, के साथ आत्मनिर्भर पर सरकार का फोकस

  • पशुओं के लिए टीकाकरण, कृत्रिम गर्भधारण
  • टेलिमेडिसीन से पशुअस्पताल जूडे रहेंगे।
  • पशुओं के लिए चिकित्सा व्यवस्था निशुल्क
  • पशुओं की जांच के लिए कॉल सेंटर की स्थापना, गोवंश संस्थान की स्थापना की जाएगी
  • वाटर ड्रेनेज के लिए 470 करोड़ रुपये का प्रावधान
  • भूमिहीनों को मिलेगा बहुमंजिला इमारत
  • बिहार में हर खेत तक पानी उपलब्धता सुनिश्चित करने की योजना
  • महिलाओं को पांच लाख रुपये तक ऋणमुक्त योजना
  • गांवों में कचरा प्रबंधन की व्यवस्था की जाएगी।
  • बिहार के सभी शहरों में ठोस एवं अपशिष्ठ प्रबंधन
  • मछली पालन को बढ़ावा दिया जाएगा
  • शहरी में रह रहे भूमिहीन गरीबों को बहुमंजिला इमारत में मकान दिया जाएगा
  • स्ट्रीट लाइट के लिए 150 करोड़ रुपये का प्रावधान
  • सभी शहरों में विद्युत शवदाहगृह बनाया जाएगा
  • वृद्ध जनों के लिए योजना आश्रय स्थल बनाया जाएगा।90करोड़ रुपये का प्रावधान वृद्धजनों के लिए
  • इंजीनियरिंग कॉलेज के लिए 110 करोड़ रुपये दिए जाएंगे।
  • क्षेत्रीय प्रशासन, पुलिस थाना, में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाई जाएगी।
  • महिला उद्यमिता के लिए विशेष योजना लाया जाएगा।
  • महिलाओं के लिए ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा
  • उच्च शिक्षा में महिलाओं को बढ़ावा दिया जाएगा
  • तकनीकी शिक्षा हिंदी में दिलवाने का प्रयास
  • बिहार उद्यमिता को बढ़ावा दिया जाएगा
  • हर जिले में मेगा स्किल खोला जाएग
  • प्रशिक्षण की गुणवत्ता सुधारने पर जोर
  • उच्चस्तरीय फोर एक्सीलेंस का निर्माण कराया जाएगा।
  • युवाओं को रोजगार में आसानी होगी, 
  • हर प्रमंडल में टूल रूम बनाया जाएगा
  • युवाओं को तकनीकी शिक्षा हिंदी में दिलवाने का प्रयास किया जाएगा।
  • राज्य में खेल विश्वविद्यालय की स्थापना होगी।
  • सात निश्चय पार्ट टू पर काम शुरू
  • हर घर नल जल योजना पहुंचा रहे हैं।
  • बिहार में महिलाओं को मिला 35 प्रतिशत आरक्षण
  • आर्थिक पैकेज से हुआ बिहार को लाभ
  • सभी 38 जिले ओडीएफ घोषित
  • अनुमंडलों में एएनएम संस्थान खोले गए।
  • 12 जिलों में पारा मेडिकल खोले गए।,तीन नये मेडिकल कॉलेज निर्माण की प्रक्रिया जारी।
  • गली -नाली में 114200, सात निश्चय पार्ट टू पर काम शुरू किया।

पटनाः   बिहार का आम बजट उपमुख्यमंत्री सह वित्तमंत्री तारकिशोर प्रसाद विधानमंडल में शेरो शायरी के साथ शुरू की। बतौर वित्तमंत्री वे अपना पहला बजट सदन के पटल पर रख रहे हैं। बिहार बजट पेश करते हुए तारकिशोर प्रसाद ने कहा- ये बजट सर्वांगीण विकास का बजट है। उन्होंने महिलाओं के लिए विशेष योजना लाने की बात कही। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बजट में सात निश्चय योजना के लिए 4671 करोड़ सात निश्चय पार्ट2 के लिए स्वीकृत किए गए हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अगुवाई वाली वित्तीय वर्ष 2021-22 में कोरोना संकट के बाद शिक्षा, स्वास्थ्य, रोजगार समेत सात निश्चय पार्ट-2 के जरिए आत्मनिर्भर बिहार पर सरकार का फोकस रहेगा। 2021-22 के इस बजट का आकार करीब दो लाख 15 हजार करोड़ रुपये से अधिक रहने की संभावना है। जो कि गत वित्तीय वर्ष 2020-21 के दो लाख 11 हजार 761 करोड़ रुपये से अधिक है। बजट में ग्रामीण संपर्कता के साथ ही जल-जीवन-हरियाली के तहत हर खेत तक पानी पहुंचाने के सरकार के संकल्प की झलक दिखेगी।

2020-25 में रोजगार के 20 लाख से ज्यादा अवसर पैदा किए जाएंगे, सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्र में 20 लाख से ज्यादा रोजगार सृजित किया जाएगा। इसके 2021-22 में 200 करोड़ रुपये व्यय किया जाएगा। महिलाओं को उद्योग के लिए 5 लाख तक ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा, उच्च शिक्षा के लिए अविवाहित महिलाओं को 25 हजार और स्नातक उत्तीर्ण होने पर महिलाओं को 50 हजार की आर्थिक सहायता, सरकार के द्वारा महिलाओं को सरकारी नौकरी में 35 फीसदी आरक्षण, सरकारी ऑफिस में आरक्षण के अनुरूप संख्या बढ़ाई जाएगी, हर खेत तक सिंचाई का पानी– किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सिंचाई की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। हर खेत में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित किया जाएगा, हर खेत में पानी पहुंचाने की योजना के लिए 550 करोड़ का का बजट प्रावधान. हर गांव मे सोलर लाइट लगाई जाएगी। सभी गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट के लिए 150 करोड़ का बजट प्रावधान है, बिहार की मछली दूसरे राज्य में जाए इतना उत्पादन होगा। पशु एवं मत्स्य पालन के लिए सहायता को लेकर 500 करोड़ का प्रावधान है। राज्य सरकार के द्वारा बहुमंजिला भवन बनाकर आवास दिया जाएगा। सभी शहरो में विद्युत शवदाह केंद्र बनाया जाएगा। बिहार के सभी शहरों में जल जमाव की समस्या को दूर करने के लिए 450 करोड़ राशि का प्रावधान बजट में किया गया है। बुजुर्गों के लिए आश्रय स्थल बनाए जाएंगे। बुजुर्गों के लिए आश्रय स्थल बनाए जाएंगे। बजट में इसके लिए 90 करोड़ की व्यवस्था की गई है। गांवों में संपर्क सड़क बनाने की योजना है। इस योजना पर 250 करोड़ का प्रावधान है। शहरी क्षेत्र में बाईपास और फ्लाई ओवर बनाये जाएंगे। इसके लिए बजट 200 में करोड़ का प्रावधान किया गया है, पशुओं के इलाज की बेहतर व्यवस्था की जाएगी। बजट में पशुधन के स्वास्थ्य के लिए 500 करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है। गोवंश विकास की स्थापना की जाएगी। पशुओं के इलाज के लिए कॉल सेंटर के जरिए डोर स्टेप इलाज की व्यवस्था, मोबाइल एप के माध्यम से मिलेगी सुविधा, 2 लाख 18  हजार 502  करोड़ का अनुमानित आय, 2 लाख 18  हजार 303  करोड़ का अनुमानित  बजट पेश किया गया, योजना मद में 10,51,881  करोड़ स्वीकृत, बजट के दौरान उपमुख्यमंत्री श्री तार किशोर प्रसाद ने सदन के तमाम सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि- उनकी शिकवा है कि मेरी उड़ान कुछ कम है……प्यासे के पास चलकर समंदर भी आएगा.

उपमुख्यमंत्री श्री तार किशोर प्रसाद ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहार वाजपेयी की कविता सुनाते हुए कहा-कदम मिलाकर चलना होगा…कदम मिलाकर चलना होगा. लक्ष्य के अनुरुप उपलब्धियां प्राप्त करनी होगी। बजट के दौरान उन्होंने कहा कि- बिहार के विकास के लिए 2015 में 7 निश्चय शुरू किया गया जो पिछले 5 वर्षों में 7 निश्चय योजना में काफी उपलब्धि हासिल की है। अब तक 479680 लाभुकों को लाभान्वित किया गया है। महिलाओं को 35 फीसदी क्षैतिज आरक्षण की व्यवस्था,  हर घर बिजली योजना के अंतर्गत गांव में भी सभी घरों में बिजली पहुंचाई गयी। हर घर नल का जल पहुंचाया जा रहा है। 86.36 लाख घरों को आच्छादित किया जा चुका है। कोरोना काल में बाहर फंसे हुए लोगों के आश्रय और भोजन की व्यवस्था की गई, कामगारों की वापसी के लिए रेलगाड़ियों का प्रबंध किया गया. कई जगहों पर क्वारंटीन सेंटर बनाकर 14 दिनों तक उन्हें रखा गया। अवसर बढ़े आगे पढ़े निश्चय के तहत 23 चयनित जिलों में 12 में जीएनएम संस्थाएं खुल गई हैं और बाकी में काम अभी जारी हैं। तीन नए मेडिकल कॉलेज के निर्माण की प्रक्रिया जारी है। 28 जिलों में पारा मेडिकल कॉलेज खोले जाने थे, जिसमें 12 खुल चुके हैं, सरकार के द्वरा अगले 5 वर्षो के लिए सात निश्चय पार्टी 2 लाया गया। इसके लिए विभिन्न योजनाएं बनाई गई हैं। 4671 करोड़ का बजट प्रावधान किया गया है। योजना की प्रारंभिक तैयारी शुरू हो चुकी है। सात निश्चय पार्ट- 2 के लिए 4 हज़ार 671 करोड़ राशि का बजट में प्रावधान रखा गया है, युवा उद्यमी बन सकें सरकार इस पर काम कर रही है। आईटीआई और पॉलटेक्निक को आधुनिक बनाया जाएगा। नेटवर्किंग, आईटी समेत कई ट्रेड में ट्रेनिंग दी जाएगी। हर जिले में मेगा ट्रेनिंग सेंटर बनाए जाएंगे, इनमें रोजगारोन्मुखी स्कील की ट्रेनिंग दी जाएगी, हर प्रमंडल में टूल रूम और  ट्रेनिंग सेंटर की स्थापना की जायेग़ी।

2020-25 में रोजगार के 20 लाख से ज्यादा अवसर पैदा किए जाएंगे, सरकारी और गैर सरकारी क्षेत्र में 20 लाख से ज्यादा रोजगार सृजित किया जाएगा। इसके 2021-22 में 200 करोड़ रुपये व्यय किया जाएगा। महिलाओं को उद्योग के लिए 5 लाख तक ब्याज मुक्त ऋण दिया जाएगा, उच्च शिक्षा के लिए अविवाहित महिलाओं को 25 हजार और स्नातक उत्तीर्ण होने पर महिलाओं को 50 हजार की आर्थिक सहायता, सरकार के द्वारा महिलाओं को सरकारी नौकरी में 35 फीसदी आरक्षण, सरकारी ऑफिस में आरक्षण के अनुरूप संख्या बढ़ाई जाएगी, हर खेत तक सिंचाई का पानी– किसानों की आय दोगुनी करने के लिए सिंचाई की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। हर खेत में पानी की उपलब्धता सुनिश्चित किया जाएगा, हर खेत में पानी पहुंचाने की योजना के लिए 550 करोड़ का का बजट प्रावधान. हर गांव मे सोलर लाइट लगाई जाएगी। सभी गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट के लिए 150 करोड़ का बजट प्रावधान है, बिहार की मछली दूसरे राज्य में जाए इतना उत्पादन होगा। पशु एवं मत्स्य पालन के लिए सहायता को लेकर 500 करोड़ का प्रावधान है। राज्य सरकार के द्वारा बहुमंजिला भवन बनाकर आवास दिया जाएगा। सभी शहरो में विद्युत शवदाह केंद्र बनाया जाएगा। बिहार के सभी शहरों में जल जमाव की समस्या को दूर करने के लिए 450 करोड़ राशि का प्रावधान बजट में किया गया है। बुजुर्गों के लिए आश्रय स्थल बनाए जाएंगे। बुजुर्गों के लिए आश्रय स्थल बनाए जाएंगे। बजट में इसके लिए 90 करोड़ की व्यवस्था की गई है। गांवों में संपर्क सड़क बनाने की योजना है। इस योजना पर 250 करोड़ का प्रावधान है। शहरी क्षेत्र में बाईपास और फ्लाई ओवर बनाये जाएंगे। इसके लिए बजट 200 में करोड़ का प्रावधान किया गया है, पशुओं के इलाज की बेहतर व्यवस्था की जाएगी। बजट में पशुधन के स्वास्थ्य के लिए 500 करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है। गोवंश विकास की स्थापना की जाएगी। पशुओं के इलाज के लिए कॉल सेंटर के जरिए डोर स्टेप इलाज की व्यवस्था, मोबाइल एप के माध्यम से मिलेगी सुविधा, 2 लाख 18  हजार 502  करोड़ का अनुमानित आय, 2 लाख 18  हजार 303  करोड़ का अनुमानित  बजट पेश किया गया, योजना मद में 10,51,881  करोड़ स्वीकृत, बजट के दौरान उपमुख्यमंत्री तार किशोर प्रसाद ने सदन के तमाम सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि- उनकी शिकवा है कि मेरी उड़ान कुछ कम है……प्यासे के पास चलकर समंदर भी आएगा. थककर न बैठ ए मंजिल के मुसाफिर…मंजिल भी मिलेगी और मिलने का मजा भी आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *